200% लोगो को पता ही नहीं है बबासीर को छुमंतर कर दे ये अनोखा छुईमुई का पौधा, क्या आप को पता है?

5,451

छुईमुई पौधा नमी वाले स्थानों में ज्यादा पाया जाता है इसके छोटे पौधे में अनेक शाखाएं होती है इसका वानस्पतिक नाम माईमोसा पुदिका है. संपूर्ण भारत में होने वाला यह पौधा अनेक रोगों के निवारण के लिए उपयोग में लाया जाता है इनके पत्ते को छूने पर ये सिकुड़ कर आपस में सट जाती है इस कारण इसी लजौली नाम से जाना जाता है इसके फूल गुलाबी रंग के होते हैं छुईमुई का पौधा एक विशेष पौधा है इसके गुलाबी फूल बहुत सुन्दर लगते हैं और पत्ते तो छूते ही मुरझा जाते हैं इसे छुईमुई कहते हैं

SBI बैंक में निकली 10th-12th के लिए क्लर्क भर्ती- लास्ट डेट : 26 जनवरी 2020

दिल्ली पुलिस नौकरियां 2019: 649 हेड कांस्टेबल पदों के लिए ऑनलाइन आवेदन करें

AIIMS भोपाल में निकली नॉन फैकेल्टी ग्रुप A के लिए भर्तियाँ – अभी देखें 

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन

200% of people do not know, let Babasir kiss this unique plant, do you know?

          छुईमुई पौधे के औषधीय उपयोग-

200% of people do not know, let Babasir kiss this unique plant, do you know?

1.मधुमेह रोगियों के लिए- यदि छुईमुई की 100 ग्राम पत्तियों को 300 मिली पानी में डालकर काढ़ा बनाया जाए तो यह काढ़ा मधुमेह के रोगियों को काफी फायदा होता है

200% of people do not know, let Babasir kiss this unique plant, do you know?

2.दस्त ग्रस्त रोगियों के लिए- छुईमुई की जड़ों का चूर्ण 3 ग्राम दही के साथ खूनी दस्त से ग्रस्त रोगी को खिलाने से दस्त जल्दी बंद हो जाती है वैसे डाँगी आदिवासी मानते है कि जड़ों का पानी में तैयार काढ़ा भी खूनी दस्त रोकने में कारगर होता है

200% of people do not know, let Babasir kiss this unique plant, do you know?

3.बबासीर वाले रोगियों के लिए- छुई-मुई की जड़ और पत्तों का पाउडर दूध में मिलाकर दो बार लेने से बवासीर रोग ठीक होता है पत्तियों के रस को बवासीर के घाव पर सीधे लगाने से घाव जल्दी सुख जाता है और अक्सर होने वाले खून के बहाव को रोकने में भी मदद करता है

200% of people do not know, let Babasir kiss this unique plant, do you know?

 

👉 Important Link 👈
👉 Join Our Telegram Channel 👈
👉 Sarkari Yojana 👈

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.