Lucknow Alaya Apartment accident: लखनऊ के अलाया अपार्टमेंट हादसे में 2 महिलाओं की मौत, 17 घंटे तक रेस्क्यू ऑपरेशन जारी रहा

0 42

Lucknow Alaya Apartment accident: लखनऊ के अलाया अपार्टमेंट हादसे में 17 घंटे से रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है. मलबे से निकाले गए सपा प्रवक्ता अब्बास हैदर की मां और उनकी पत्नी उजमा की इलाज के दौरान मौत हो गई। डीजीपी डीएस चौहान ने बताया कि फंसे लोगों को निकालने का अभियान जारी है. निस्तारण कार्यों में मलबा एक बड़ी समस्या है। दो अज्ञात लोगों के भी होने की खबर है। जांच के लिए तीन सदस्यीय कमेटी का गठन किया गया है। एनडीआरएफ, पुलिस के जवान लगातार बचाव कार्य में लगे हुए हैं। हादसे के कारणों का पता जांच के बाद ही चलेगा। कयास ही लगाए जा रहे हैं कि हादसा भूकंप की वजह से हुआ है। भवन निर्माण की गुणवत्ता बेहद खराब है। एनडीआरएफ, एसडीआरएफ की कुल 12 टीमों को तैनात किया गया है।

हजरतगंज के वजीर हसन रोड स्थित पांच मंजिला अलाया अपार्टमेंट की इमारत मंगलवार देर शाम ढह गई. इस हादसे में वहां रह रहे दर्जनों लोग फंस गए। हंगामे के बीच एसडीआरएफ, पीएसी व पुलिस प्रशासन ने स्थानीय लोगों की मदद से 13 लोगों को बाहर निकाला। पांच लोगों को सिविल अस्पताल भेजा गया है। बच्चे की हालत गंभीर है. बुधवार सुबह मलबे से निकाली गई एक महिला की मौत हो गई।

Lucknow Alaya Apartment accident: जांच समिति का गठन

अलाया अपार्टमेंट हादसे पर योगी सरकार ने बड़ी कार्रवाई की है। मुख्यमंत्री के निर्देश पर तीन सदस्यीय जांच कमेटी का गठन किया गया है। इस कमेटी में लखनऊ कमिश्नर रोशन जैकब, लखनऊ संयुक्त पुलिस कमिश्नर पीयूष मोरदिया और चीफ इंजीनियर पीडब्ल्यूडी लखनऊ होंगे.यह कमेटी घटना के लिए जिम्मेदार लोगों की पहचान कर एक सप्ताह के भीतर रिपोर्ट देगी. वहीं, संभागायुक्त डॉ. रोशन जैकब ने लखनऊ विकास प्राधिकरण के अधिकारियों को निर्देश दिया है कि हजरतगंज के वजीरगंज हसन रोड स्थित अलाया अपार्टमेंट के ढहने के मामले में भवन मालिक मोहम्मद तारिक, नवाजिश शाहिद और बिल्डर यजदान के खिलाफ तत्काल मामला दर्ज किया जाए. संभागायुक्त ने लखनऊ शहर में यजदान बिल्डर्स द्वारा निर्मित अन्य भवनों की पहचान कर जांच करने का भी निर्देश दिया है.

👉 Important Link 👈
👉 Join Our Telegram Channel 👈
👉 Sarkari Yojana 👈

Leave a Reply