भारत के झंडे को बनाने वाले पिंगली वेंकैया के बारे में 10 दिलचस्प बातें

752

* पिंगली वेंकैया का जन्म आंध्र प्रदेश के भातलपेनुमाररू में 2 अगस्त 1876 में हुआ था। उन्होंने 19 साल की उम्र में ब्रिटिश सेना में काम करना शुरू कर दिया था।
* मचिलीपट्नम में चल्लापल्ली और हिन्दू हाई स्कूल में शुरुवाती पढ़ाई करने के बाद वह आगे की पढ़ाई के लिए कोलोंबो चले गए थे।
* उन्होंने जापानी भाषा सीखी लेकिन उन्हें उर्दू और इतिहास में भी काफी दिलचस्पी थी। अफ्रीका में एंग्लो बोअर की लड़ाई के वक़्त वेंकैया महात्मा गाँधी से मिले थे।

* पांच सालों तक 30 देशों के झंडों पर रिसर्च करने के बाद उन्होंने त्याग, शांति और एकता को दर्शाते हुए भारतीय झंडे के रंग और डिज़ाइन को बनाया।
* 15 अगस्त 1947 में स्वतंत्रता मिलने पर पिंगली द्वारा डिज़ाइन किये गए राष्ट्रीय झंडे को भारत की संविधान सभा ने 22 जुलाई 1947 में अपनाया था।
* पिंगली की हीरा खनन और कॉटन में दिलचस्पी होने के कारण उन्हें डायमंड वेंकैया और कॉटन वेंकैया का नाम दिया गया।
* कई भाषाएँ जानने वाले पिंगली ने भूगर्भविद्या में डॉक्टरेट की थी और उन्होंने मचिलीपट्नम में एक संसथान भी स्थापित की थी।

loading...

# * 2009 में उन्हें श्रद्धांजलि देने के लिए एक पोस्टेज स्टाम्प जारी की गयी।
* मरणोपरांत 2011 में उनका नाम भारत रत्न के लिए दिया गया।
* कुछ सालों पहले ही उनकी बेटी को सरकार की तरफ से पेंशन मिलनी शुरू हुई है।

फ्री 400 रुपये Paytm पाने के लिए – यहां क्लिक करें

जिओ में निकली Freedom Sale :- 

Jio 2 Smartphone  मोबाइल को 499 रुपये में खरीदने के लिए यहाँ क्लिक करे

JIO Mini SmartWatch को 199 रुपये में खरीदने के लिए यहाँ क्लिक करे

JioFi M2 को 349 रुपये में खरीदने के लिए यहाँ क्लिक करे

Jio Fitness Tracker को 99 रुपये में खरीदने के लिए यहाँ क्लिक करे

Video Zone ::  Women Motivation Video must watch to everyone | Amazing | Inspired

सभी ख़बरें अपने मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 
अपनी मन पसंद ख़बरे मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.