हॉलीवुड की फिल्म ‘लास्ट टैंगो इन पेरिस’ में हीरोइन को बिना बताए शूट किया था ये जबरदस्ती सीन

622

हॉलीवुड के महान फिल्म निर्देशकों में शुमार बेर्नार्दो बेर्तोलुची ने अपने एक पुराने इंटरव्यू में कहा था कि साल 1972 में आई उनकी फिल्म ‘लास्ट टैंगों इन पेरिस’ में अभिनेता मार्लन ब्रैंडो और अभिनेत्री मारिया स्निदेर के बीच फिल्माए गए सीन के लिए हीरोइन की अनुमति नहीं ली गई थी. उनका यह इंटरव्यू एक बार फिर सामने आ गया है.

क्या कहा था ‘लास्ट टैंगो इन पेरिस’ के फिल्म निर्देशक ने

हॉलीवुड की फिल्म 'लास्ट टैंगो इन पेरिस' में हीरोइन को बिना बताए शूट किया था ये जबरदस्ती सीन

अपने एक पुराने इंटरव्यू में बेर्नार्दो बेर्तोलुची ने कहा था कि उनकी फिल्म ‘लास्ट टैंगों इन पेरिस’ में गए सीन के लिए हीरोइन की अनुमति नहीं ली गई थी. इंटरव्यू के इंटरनेट पर वायरल होने के बाद जैसिका चेस्टेन और क्रिस इवान जैसे हॉलीवुड सितारों ने सोशल मीडिया पर इस निर्देशक-अभिनेता जोड़ी की कड़ी शब्दों में आलोचना की है. फिल्म की शूटिंग के वक्त ब्रैंडो 48 और स्निदेर 19 साल की थीं, यह हॉलीवुड के इतिहास में बला-त्कार के सबसे बुरे दृश्यों में से एक है.

जाने क्या था पूरा मामला ?

loading...

हॉलीवुड की फिल्म 'लास्ट टैंगो इन पेरिस' में हीरोइन को बिना बताए शूट किया था ये जबरदस्ती सीन

बेर्तोलुची ने यह इंटरव्यू साल 2013 में पेरिस में आयोजित ला सिन्मैदक्यू फॉसे में दिया था. उन्होंने बताया था कि वे चाहते थे कि फिल्म में मारिया के असल एक्सप्रेशन दिखें, इसके लिए शूटिंग शुरू होने से पहले उन्हें और ब्रैंडो को यह विचार आया कि वे सीन के बारे में मारिया को कुछ नहीं बताएंगे. बेर्तोलुची ने कहा था, “बटर सीक्वेंस का आइडिया मुझे और मार्लन को शूटिंग से कुछ देर पहले ही आया. मुझे लगता है कि इसके बाद मारिया को मुझसे और ब्रैंडो से नफरत हो गई कि हमने उन्हें कुछ नहीं बताया था. मैं चाहता था कि उनका गुस्सा, उनका अपमानित होने का भाव फिल्म में दिखे, मैं चाहता था कि यह भाव वह एक्ट न करें बल्कि यह उनका अपना हो. उन्होंने मुझसे जिंदगी भर नफरत की.”

क्या कहा था मारिया स्निदेर ?

हॉलीवुड की फिल्म 'लास्ट टैंगो इन पेरिस' में हीरोइन को बिना बताए शूट किया था ये जबरदस्ती सीन

इस इंटरव्यू में बेर्तोलुची ने यह भी कहा कि वह खुद को मारिया स्निदेर का दोषी महसूस करते हैं लेकिन उन्हें इसका अफसोस नहीं है. वहीं साल 2007 में डेली मेल को दिए एक इंटरव्यू में मारिया ने कहा था, “वह सीन ‘लास्ट टैंगो इन पेरिस’ फिल्म की ओरिजिनल स्क्रिप्ट में नहीं था. सच यह है कि मार्लन को यह आइडिया आया और उन्होंने मुझे इस बारे में तभी बताया जब हम शूटिंग शुरू करने वाले थे और मुझे बहुत तेज गुस्सा आया. शायद मुझे अपने एजेंट को फोन करना था या शायद मेरे वकील को सेट पर आना था क्योंकि आप किसी से वह सीन शूट नहीं करा सकते जो स्क्रिप्ट में है ही नहीं, लेकिन उस वक्त मुझे यह सब मालूम नहीं था. मार्लन ने मुझसे कहा: ‘मारिया, चिंता मत करो यह सिर्फ एक फिल्म है,’ लेकिन सीन के दौरान हालांकि मार्लन जो भी कर रहे थे वह रियल नहीं था पर मैं असल में रो रही थी. मैं अपमानित महसूस कर रही थी और सच कहूं तो मुझे लगा जैसे मेरा बला-त्कार किया गया है, मार्लन ने भी और बर्तोलुची ने भी. सीन के बाद मार्लन ने न ही मुझे सहारा दिया और न ही उन्होंने मुझसे माफी मांग. शुक्र है कि सब एक ही टेक में हो गया.”

फिल्म के बाद डिप्रेशन में चली गईं मारिया

हॉलीवुड की फिल्म 'लास्ट टैंगो इन पेरिस' में हीरोइन को बिना बताए शूट किया था ये जबरदस्ती सीन उन्होंने बताया कि फिल्म की वजह से वह ड्रग एडिक्ट हो गईं और डिप्रेशन में चली गईं, “मुझे दुख हुआ कि मुझे एक से-क्स सिंबल की तरह ट्रीट किया गया – मैं एक अभिनेत्री के तौर पर अपनी पहचान बनाना चाहती थी लेकिन ‘लास्ट टैंगो इन पेरिस’ फिल्म के बाद जो कुछ भी हुआ उससे मैं पागल सी हो गई और बिखर गई.

सभी ख़बरें अपने मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.