सावधान, अधूरी नींद से बढ़ती हैं कई बीमारियां

234

-यूं तो नींद ना आने की कई कारण हो सकते हैं। लेकिन जब नींद ना आने से शरीर में कई दिक्कतें बढ़ सकती हैं। अल्कोहल लेना, धूम्रपान करना सोने का समय निर्धारित ना होना, देर रात तक इलेक्ट्रॉनिक गैजेट का इस्तेमाल भी नींद को प्रभावित करते हैं। ऐसे में इनसे बचे ताकि अन्य बीमारियों का खतरा कम किया जा सके।

ये भी जरूर देखें :

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन

1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

loading...

स्लीप एपनिया के दौरान रक्त के ऑक्सीजन स्तर में अचानक कमी आना और ब्लड प्रेशर बढ़ना शरीर की समस्याएं पैदा हो जाती है। इस से ग्रस्त लोगों में उच्च रक्तचाप की समस्या होती है। जिससे ह्रदय संबंधी रोग होने की आशंका बढ़ जाती है।

inadequate sleep can create these diseases

यह रोग इतना गंभीर होता है कि दिल का दौरा पड़ना, दिल की धड़कन रुक जाना जोखिम बढ़ जाता है। अवसाद या डिप्रेशन का एक बड़ा कारण अधूरी नींद या अनिद्रा भी हैं। सही समय पर ध्यान ना देने के कारण उनमें चिड़चिड़ाहट भूख ना लगना, अकारण गुस्सा आना है और नींद ना आना जैसी समस्याएं भी जन्म लेने लगती हैं।

इससे कई अन्य बीमारियां भी शरीर में घर करने लगती हैं। किसी लंबी बीमारी से पीड़ित होने पर भी नींद में पैदा होने लगती है। गठिया और जोड़ों के कई तरह के दर्द में रात के समय ही दर्द ज्यादा होने लगता है। साइनस आदि सांसो से जुड़ी समस्याएं भी नींद आने में परेशानी होने लगती है।

inadequate sleep can create these diseases

शरीर मैं ऑक्सीजन की कमी होने पर होने वाली घबराहट और बेचैनी भी नींद की गुणवत्ता पर असर डालते हैं। ऐसे में जरूरी है कि अपनी इन दिक्कतों को डॉक्टर से साझा करें ताकि अनिद्रा से होने वाली समस्याओं से बचा जा सके।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.