महिलाओं में गंजापन : लक्षण, कारण और बचाव हर महिला को जानना बेहद आवश्यक

1,912

बालों का गंजापन सिर्फ पुरुषों में ही नहीं होता है बल्कि महिलाओं में भी होता है जिसे फिमेल बॉल्डनेस (Female Baldness) कहते हैं। असल में महिलाओं का गंजापन पुरुषों की तरह ही होता है सिर्फ उसका पैटर्न अलग होता है। महिलाओं के गंजेपन को एंड्रोजेनेटिक एलोपेशिया कहते हैं। आमतौर पर दो-तिहाईं महिलाओं में गंजापन रजोनिवृति के बाद होता है लेकिन आजकल की लाइफस्टाल, तनाव, हार्मोन में असंतुलन के कारण महिलाओं में गंजेपन की समस्या दिन ब दिन बढ़ती जा रही है।

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन

1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

Are you suffering from hair loss So these 11 reasons can be your hair loss!

गंजेपन के प्राथमिक लक्षण | Hair Fall Problem

गंजेपन की अवस्था (Female baldness ) में हेयर फॉलीकल के सिकुड़ जाने के कारण बाल दिन ब दिन पतले होने लगते हैं, जिसके कारण बाल जड़ से कमजोर होकर टूटने और गिरने लगते हैं। महिलाएं जहां से मांग की जाती है गंजेपन की समस्या वहीं से शुरू होती है। महिलाओं में पूरी तरह गंजापन सामान्यतः नहीं देखा जाता है लेकिन पूरे सर के बाल पतले हो जाते हैं।

गंजेपन का कारण | Reason of Hair Fall

निवृत्ति के कारण महिलाओं में हार्मोन का अंसतुलन सबसे ज्यादा होता है, जिसका असर बालों पर पड़ता है। पौष्टिक आहार की कमी, अत्यधिक तनाव, कम नींद, बार-बार रूसी होना भी बालों के कमजोरी (Female baldness Weakness ) के आम कारण हैं। वायु प्रदूषण के कारण बालों में लेड, कॉपर और कैडमियम उच्च सांद्रता यानि हाई कंसन्ट्रेशन में होने और जिंक निम्न सांद्रता में होने के कारण भी गंजेपन की समस्या होती है।

महिलाओं में गंजापन दूर करने का इलाज

loading...

हेयर ट्रांसप्लांट | Hair Transplant

इस प्रक्रिया में स्कैल्प के एक जगह से पतले बालों को लेकर, जहां पर बाल नहीं है वहां ट्रांसप्लांट किया जाता है।

हेयर वीविंग | Hear Weaving

इस तकनीक में सामान्य बाल या सिथेंटिक हेयर को गंजेपन वाले स्थान पर लगाया जाता है।

लोअर लेवल लेजर थेरेपी | Lower Level Laser Therapy

लेजर ट्रीटमेंट से ब्लड सेल्स एक्टिव हो जाती है और स्कैल्प में ब्लड सर्कुलेशन बेहतर तरीके से होने के कारण नए बाल उगने लगते हैं।

गंजापन कम करने के घरेलू उपाय:

अंडे की जर्दी:

अंडे की जर्दी को बालों में लगाने से ऐलोपेशिया का कुछ हद तक उपचार किया जा सकता है, क्योंकि मुर्गी के अंडे में हेयर ग्रोथ फैक्टर होता है। यह कोशिकाओं को विकसित करके नए बालों के विकास में सहायता करते हैं

प्याज का रस:

ये घरेलू नुस्ख़ा बहुत ही जाना-माना है। दादी-नानी के जमाने से बालों का झड़ना कम करने के लिए घरेलू नुस्ख़े के रूप में प्याज के रस का इस्तेमाल किया जाता रहा है। ताजा प्याज का रस बालों का झड़ना कम करने के साथ-साथ नए बालों के विकास में भी मदद करता है।

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 
अपनी मन पसंद ख़बरे मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.