भाजपा की अहम बैठकों से दूर रहने वाली मेनका गांधी का सनसनीखेज फैसला, आपको हैरान कर देगी

38
केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी वैसे तो भाजपा की अहम बैठकों से दूरी बना कर पार्टी नेतृत्व के खिलाफ अपनी मंशा पहले ही जाहिर कर चुकी है लेकिन लोकसभा चुनाव से ऐन वक्त पहले भाजपा की वरिष्ठ नेत्री मेनका गांधी के एक फैसले से भाजपा में सनसनीखेज फैल सकती है।

Advertisement

आगामी लोकसभा चुनावों के मद्देनजर केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी अपनी परंपरागत सीट पीलीभीत छोड़कर इस बार हरियाणा के करनाल से चुनाव लड़ सकती हैं। उनकी जगह पुत्र वरुण गांधी पीलीभीत से चुनाव लड़ सकते हैं। वरुण गांधी इस वक्‍त सुल्‍तानपुर से बीजेपी सांसद हैं।

हालांकि हरियाणा प्रदेश स्तर पर उनके नाम की सहमति नहीं बन पाई है। हालांकि प्रदेश स्तर पर मेनका गांधी को कुरुक्षेत्र सीट से उम्मीदवार बनाने पर सहमति बन सकती है। सूत्रों की मानें तो मेनका गांधी कुरुक्षेत्र से चुनाव लड़ने को तैयार नहीं हैं। वर्तमान में एक अखबार के मालिक अश्वनी चोपड़ा सांसद हैं और पिछले कई दिनों से अस्वस्थ चल रहे हैं।

हालांकि मेनका गांधी और वरुण गांधी के भविष्य पर अंतिम फैसला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पार्टी अध्यक्ष अमित शाह को लेना है और देखना है कि भाजपा अपने अहम बैठकों से दूर रहने वाली मेनका गांधी को कैसे मनाती है।

सभी ख़बरें अपने मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Advertisement

loading...

Comments are closed.