ब्लड शुगर को कंट्रोल करना है तो अपनाएं ‘डाइट’, जानिए क्या कहता है आयुर्वेद

0 240
Join Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now

[ad_1]

आरोग्यनाम ऑनलाइन टीम – रक्त शर्करा | मधुमेह एक चयापचय स्थिति है जिसमें शरीर में रक्त शर्करा का स्तर काफी बढ़ जाता है। जब हम कुछ खाते हैं, तो उसमें अन्य चीजों के अलावा, कार्बोहाइड्रेट होते हैं, जो पेट में पच जाते हैं और ग्लूकोज में बदल जाते हैं और फिर रक्त में पहुंच जाते हैं। लेकिन जब आपके खाने की आदतें बिगड़ने लगती हैं, तो ग्लूकोज सोखने वाले इंसुलिन का उत्पादन कम होने लगता है। इसका परिणाम मधुमेह (ब्लड शुगर) के रूप में होता है।

हम कह सकते हैं कि हमारा खान-पान और जीवनशैली ही मधुमेह का कारण है। इसलिए खाने-पीने का ध्यान रखना इतना जरूरी है, लेकिन अक्सर डायबिटीज (ब्लड शुगर) की स्थिति में हम इस बात को लेकर असमंजस में रहते हैं कि क्या खाएं। आयुर्वेद विशेषज्ञ डॉ. इन समस्याओं को दूर करने की कोशिश कर रहे हैं। डॉ. नितिका कोहली द्वारा किया गया।

आहार को समझना महत्वपूर्ण है:
डॉक्टर नितिका कोहली का कहना है कि यह समझना जरूरी है कि बीमारी होने पर क्या खाना चाहिए। चीजों को आसान बनाने के लिए पहला लक्ष्य शरीर में ब्लड शुगर लेवल को बढ़ने से रोकना होना चाहिए, इसलिए आपको ऐसे खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए जिनसे डायबिटीज से जुड़ी अन्य जटिलताएं न हों।

डॉ। कोहली के मुताबिक इसके लिए डाइट सबसे आसान तरीका है। यदि आप एक आहार का पालन करते हैं, तो यह आपको टाइप 1 मधुमेह और टाइप 2 मधुमेह के जोखिम से बचाता है। डॉ. निकिता कोहली ने एक इंस्टाग्राम पोस्ट में साधारण आहार का जिक्र किया है।

मधुमेहासाठी पथ्य आहार (Diet For Diabetics) :
आयुर्वेद में आहार का विशेष महत्व है। यह प्रत्येक बीमारी के लिए एक अलग आहार का वर्णन करता है।
डॉ. नितिका के अनुसार मधुमेह में बहुत ही साधारण आहार का पालन करना चाहिए।
मूंग दाल और करेले की सब्जी मधुमेह रोगियों के लिए एक अच्छा सुपाच्य और लाभकारी भोजन है।

इसके अलावा सत्तू, पुराने चावल, लाल चावल, बाजरा बहुत उपयोगी होते हैं।
इस आहार की मदद से मधुमेह को नियंत्रित किया जा सकता है, डॉ. नितिका कहती हैं।

(अस्वीकरण : हम इस लेख में निर्धारित किसी भी कानून, प्रक्रिया और दावों का समर्थन नहीं करते हैं। उन्हें केवल सलाह के रूप में लिया जाना चाहिए।
ऐसे किसी भी उपचार/दवा/आहार को लागू करने से पहले डॉक्टर से सलाह लेना जरूरी है।)

वेब शीर्षक :- रक्त शर्करा | मधुमेह रोगी के लिए मूल आहार क्या है आयुर्वेद के अनुसार सटीक पथ्य आहार जानें

इसे भी पढ़ें

ग्रीष्मकालीन आहार | ये हैं वो 5 खाद्य पदार्थ जो गर्मियों में गर्मी को नियंत्रित कर शरीर को हाइड्रेट रखते हैं, जानिए कौन से हैं

ग्रीष्मकालीन देखभाल | गर्मियों में डिहाइड्रेशन की वजह से हो सकते हैं डायरिया, ये हैं 4 घरेलू नुस्खे; मालूम करना

बार-बार पेशाब आना | बार-बार पेशाब आना हो सकता है ‘इस’ गंभीर बीमारी का संकेत! गलती को नज़रअंदाज न करें

[ad_2]

Join Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now
Ads
Ads
Leave A Reply

Your email address will not be published.