पति-पत्नी निकले भाई बहन , 33 साल बाद हुआ खुलासा , कैसे पढ़े यहाँ ?

1,655
  • वाशिंगटन अमेरिका में यहां एक शादीशुदा जोड़े को 33 साल बाद यह पता चला कि असल में वे भाई बहन हैं और वो भी जुड़वा। यह जोड़ा बच्चे की चाह में मिसीसिपी के एक क्लीनिक पहुंचा. मगर यहां जैक्सन क्लीनिक के डॉक्टर ने एक हमारे आगे हैरतअंगेज घटना का खुलासा किया है।
दसवीं पास लोगों के लिए इस विभाग में मिल रही है बम्पर रेलवे नौकरियां
दिल्ली के इस बड़े हॉस्पिटल में निकली है जूनियर असिस्टेंट के पदों पर नौकरियां – अभी देखें
ITI, 8th, 10th युवाओं के लिये सुनहरा अवसर नवल शिप रिपेयर भर्तियाँ, जल्दी करें अभी देखें जानकारी 
ग्राहक डाक सेवा नौकरियां 2019: 10 वीं पास 3650 जीडीएस पदों के लिए करें ऑनलाइन

डॉक्टर ने बताया, देखिए ‘आमतौर हम यह पता लगाने की कोशिश नहीं करते कि पति-पत्नी में क्या संबंध है. लेकिन इस मामले में लैब असिस्टेंट दोनों प्रोफाइलों में काफी समानताए देख कर हैरान रह गया.’ आगे डॉक्टर ने कहा, पहले मुझे लगा कि दोनों में कोई ज्यादा करीबी संबंध नहीं होंगा. मसलन दोनों चचेरे भाई-बहन हो सकते हैं. लेकिन नमूनों की गहराई से जांच करने के बाद मैंने पाया कि दोनों में बहुत ज्यादा समानताएं हैं।

loading...

couple get to know that they are sibling after 33 years

इसके बाद डॉक्टर ने जब मरीजों की फाइलें देखी तो पाया कि दोनों की जन्म की तारीख भी एक 1984 हैं। यह देखकर डॉक्टर को भरोसा हो गया कि दोनों मरीज जुड़वां हैं. हालांकि डॉक्टर को अब तक इसका पता नहीं था कि कपल को यह सब पता हैं या नहीं.

जब यह बात डाक्टर ने उस कपल को बताई तो दोनों को विश्वास ही नहीं हुआ और दोनों हंस पड़े.‘यह सब सुनने के बाद पति ने बताया कि कई दोस्तो ने उनसे कहा था कि दोनों के बीच काफी समानताएं हैं. मसलन उनका बर्थ डे एक ही तारीख को है और फिर दोनों दिखते भी एक जैसे ही हैं. लेकिन उन्होंने इसे एक संयोग ही माना.’

couple get to know that they are sibling after 33 years

फिर इस मामले में कपल से बात करने के बाद डॉक्टर यह जान पाए कि यह सब कैसे हुआ. डॉक्टर ने आगे कहा, ‘इन दोनों के माता-पिता की मौत के बाद दोनों को गोद लिया गया था. फिर इन दोनों ने एक जैसा ही बचपन गुजारा था. इसी लिए उन्हें लगा कि वे दोनों आसानी से साथ रह सकते हैं.’

मामला यह था कि जब दोनों बच्चे थे तभी सड़क दुर्घटना में उनके माता-पिता की मौत हो गई और फिर अभिभावकों की मौत के बाद तब कोई परिवार बच्चों को गोद लेने के लिए तैयार नहीं हुआ. लिहाजा उन्हें राज्य की देखरेख में भेज दिया गया और वहां से फिर उन्हें दो अलग-अलग परिवारों को गोद दे दिया गया. लेकिन उन परिवारों को यह बताया ही नहीं गया कि उस बच्चे का जुड़वां भाई या बहन भी है.

सभी ख़बरें अपने मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.