Ads

दो हजार करोड़ की ठगी करने वाले अंतरराज्यीय गिरोह के चार ठग बैंगलोर से गिरफ्तार

76

कानपुर कमिश्नरेट की बजरिया थाना व सर्विलांस पुलिस टीम ने देश के अलग-अलग शहरों में रकम दोगुनी करने के नाम पर दो हजार करोड़ की ठगी करने वाले अन्तरराज्यी गिरोह को भंडाफोड़ किया है। गिरोह में शामिल एक ही परिवार के चार सदस्यों को कानपुर के डीसीपी पश्चिम की अगुवाई में बैंगलोर से पकड़ा गया है। गिरफ्तार अभियुक्तों में पिता-दो पुत्र व बहू शामिल हैं। इस गिरोह को कानपुर के जूता कारोबारी से तीन करोड़ की ठगी के मामले में दबोचने पर यह खुलासा हुआ है।

अन्तरराज्यीय ठग गिरोह का पर्दाफाश करते हुए डीसीपी पश्चिम बीबीजीटीएस मूर्ती ने पत्रकारों को यह जानकारी शनिवार को अपने कार्यालय में वार्ता करते हुए दी। डीसीपी पश्चिम ने बताया कि गिरफ्तार चारों अभियुक्तों से पूछताछ व बारामद साक्ष्यों के आधार पर पता चला है कि उन्होंने देश के अलग-अलग शहरों से कई लोगों से करीब 2000 करोड़ की ठगी की है। अभियुक्तों से पूछताछ चल रही है।

ठग झांसे में ऐसे फसांते थे लोगों को

डीसीपी पश्चिम ने बताया कि पूछताछ में पता चला है कि अभियुक्तगणों ने बैंगलोर में एम्बिडेन्ट मार्केटिंग प्राइवेट लिमिटेड नाम से फर्जी कम्पनी खोलकर लोगों को 04 महीने में रकम को दोगुना करने का लालच दिया। इसमें कानपुर के बजरिया इलाके में रहने वाले जूता व्यापारी लकी सिंह से 03 करोड़ व देश भर के लगभग 3000 लोगों से करीब 2000 हजार करोड़ से अधिक का पैसा लेकर कम्पनी बन्द करके फरार हो गये थे।

loading...

अभियुक्तों पर बंगलौर में लिखे हैं 06 मुकदमे

डीसीपी पश्चिम बीबीजीटीएस मूर्ती ने बताया कि बैंगलोर में भी गिरफ्तार अभियुक्तों पर अलग-अलग थानों में 06 मुकदमें पंजीकृत हैं। बैंगलोर में ई.डी. के द्वारा अभियुक्तों की एम्बिडेन्ट मार्केटिंग प्राइवेट लिमिटेड कम्पनी की लगभग 70 करोड़ की सम्पत्ति को सीज किया गया है। बैंगलोर के थाना डीजे हल्ली में एक ही मुकदमें में समस्त 3000 लोगों का प्रार्थना पत्र स्वीकार करते हुए मु0अ0सं0 137/2018 धारा 420/419/120 बी के तहत पंजीकृत किया गया था। अभियुक्तगण मुकदमा पंजीकृत होने के बाद से ही फरार चल रहे थे व स्थान बदल—बदल कर रह रहे थे। बताया कि मामले की पड़ताल के लिए अपनी सर्विलांस टीम लगाई थी। टीम ने बंगलौर से अंतरराज्जीय ठग गिरोह में शामिल महिला समेत 04 अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया है। पकड़े गए अभियुक्तों में महिला, उसका पति, देवर व मास्टर माइंड ससुर शामिल हैं।

गिरफ्तार अभियुक्त

मास्टर माइंड सैय्यद फरीद अहमद निवासी, टीएनटी प्लेटिनम अपार्टमेंट शक्ति नगर थाना हेन्नूर बैंगलोर कर्नाटक, इनका बेटा सैय्यद आफाक पुत्र सैय्यद फरीद अहमद, सैय्यद अम्मार पुत्र सैय्यद फरीद अहमद, मास्टर माइंड की बहू नबीला मिर्जा पत्नी सैय्यद आफाक को पकड़ा गया है।

गिरफ्तारी करने वाली टीम

प्रभारी निरिक्षक राम मूर्ति यादव, उ०नि० मो0 खालिद खान, उ0नि0 मनमोहन सिंह, का0 हरिओम थाना स्वाट टीम डीसीपी पश्चिम, का0 संजय सर्विलांस टीम डीसीपी पश्चिम, का0 जाकिर हुसैन, म0 का0 रिंका देवी, म0 का0 निशा शामिल रहीं। डीसीपी वेस्ट द्वारा खुलासा करने वाली पूरी टीम को पुरस्कृत किया जाएगा।

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 
अपनी मन पसंद ख़बरे मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.