जानिए सबकुछ अयोध्या मामले के बारे में ,पढ़ें यहाँ पर

394

देश के लिए बहुप्रतिक्षत अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट का आज सुबह सर्वसम्मति से फैसला आ गया। जजों ने फैसला देते हुए कहा कि मुस्लिम पक्ष को दूसरी जगह मस्जिद के लिए वैकल्पिक जमीन दी जाए। साथ ही अयोध्या की विवादित जमीन रामजन्मभूमि न्यास को दी जाए तथा एक ट्रस्ट बनाया जाए। जजों ने माना कि बाहरी चबूतरा, राम चबूतरा और सीता की रसोई में भी पूजा करते थे, लोग अंदरूनी हिस्से, बीच के गुंबद को ही राम जन्मस्थान मानते हैं।

बस कंडक्टर के लिए निकली बम्पर भर्तियाँ, बेरोजगार जल्दी करें आवेदन 

सरकार ने CISF ASI पदों पर निकाली है भर्तियाँ – अभी भरे फॉर्म 

UPSC ने निकाली विभिन्न विभिन्न पदों पर भर्तियाँ, योग्यतानुसार भरें आवेदन 

loading...

जानिए सबकुछ अयोध्या मामले के बारे में ,पढ़ें यहाँ पर

चीफ जस्टिस ने फैसला सुनाते हुए सबसे पहले निर्मोही अखाड़े का दावा खारिज कर दिया। जजों ने माना कि मीर बाकी ने मस्जिद बनवाई थी। जहाँ मस्जिद बनी थी वहाँ पर पहले मन्दिर था। बाबरी मस्जिद खाली पड़ी जमीन पर नही बनी। कोर्ट ने खुदाई में मिले मन्दिर के अवशेषों को अहम सबूत माना। एएसआई रिपोर्ट के आधार पर फैसला दिया है कि गुम्बन्द के नीचे पहले मन्दिर था। जजों ने कहा कि ये आस्था के आधार पर फैसला नही है। कानूनी आधार पर फैसला होगा।

जानिए सबकुछ अयोध्या मामले के बारे में ,पढ़ें यहाँ पर

चीफ जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस शरद अरविंद बोबडे, जस्टिस अशोक भूषण, जस्टिस डीवाय चंद्रचूड़ और जस्टिस एस अब्दुल नजीर की अध्यक्षता वाली संविधान पीठ मामले पर फैसला सुनाया।

जानिए सबकुछ अयोध्या मामले के बारे में ,पढ़ें यहाँ पर

फैसले से पहले जजों ने सभी पक्षों से देश मे शांति बनाए रखने की अपील की। सुप्रीम कोर्ट ने 16 अक्टूबर को सभी पक्षों को सुनने के बाद अपना फैसला सुरक्षित रखा लिया था।

सभी ख़बरें अपने मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.