कोवोवैक्स: बड़ी खबर: केंद्र सरकार ने बच्चों के टीकाकरण के लिए कोवोवैक्स को मंजूरी दी | केंद्र सरकार की समिति ने बच्चों के टीकाकरण के लिए कोवावैक्स को मंजूरी दी

0 67



सेंट्रल ड्रग अथॉरिटी की विशेषज्ञ समिति ने आपातकालीन उपयोग (ईयूए) के लिए 12 से 17 वर्ष की आयु के बच्चों के लिए एंटी-कोविड वैक्सीन ‘कोवोवैक्स’ को मंजूरी दे दी है। इस मंजूरी से देश में बच्चों के लिए कोरोना का टीका लगाना आसान हो गया है।

केंद्र सरकार की समिति ने बच्चों के टीकाकरण के लिए कोवावैक्स को मंजूरी दी

नवी दिल्ली : देश को कोरोना के खिलाफ लड़ाई में एक नया हथियार मिल गया है। केंद्र सरकार ने बच्चों के टीकाकरण की दिशा में बड़ा कदम उठाया है। सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया, पुणे (एसआईआई(कोवोवैक्स) (कोवोवैक्स) सरकार द्वारा टीके के आपातकालीन उपयोग को मंजूरी दी गई है। सेंट्रल ड्रग अथॉरिटी की विशेषज्ञ समिति ने 12 से 17 साल की उम्र के बच्चों के लिए एंटी-कोविड वैक्सीन ‘कोवोवैक्स’ के इस्तेमाल की सिफारिश की है।अमेरीका) अनुमोदित किया गया है। इस मंजूरी से देश में बच्चों के लिए कोरोना का टीका लगाना आसान हो गया है। जी न्यूज मीडिया के मुताबिक, सेंट्रल ड्रग अथॉरिटी की विशेषज्ञ समिति के आधिकारिक सूत्रों ने शुक्रवार को यह घोषणा की। (केंद्र सरकार की समिति ने बच्चों के टीकाकरण के लिए कोवावैक्स को मंजूरी दी)

डीसीजीआई को आवेदन दिसंबर में जमा किया गया था

इससे पहले 28 दिसंबर को ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (डीसीजीआई) ने आपात स्थिति में वयस्कों के लिए कोवोवैक्स वैक्सीन के सीमित उपयोग को मंजूरी दी थी। हालांकि अभी तक देश के कोरोना टीकाकरण अभियान में वैक्सीन को शामिल नहीं किया गया है। सीरम इंस्टीट्यूट में सरकार और नियामक मामलों के निदेशक प्रकाश कुमार सिंह ने 21 फरवरी को डीसीजीआई को आवेदन जमा किया था। उन्होंने देश में 12 से 17 साल की उम्र के बच्चों के लिए कोवोवैक्स के आपातकालीन उपयोग का अनुरोध किया था।

सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के आवेदन पर व्यापक चर्चा

कोविड-19 पर केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन (सीडीएससीओ) की विषय वस्तु विशेषज्ञ समिति ने सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के आवेदन पर शुक्रवार को व्यापक चर्चा की। इस चर्चा के बाद, यह सिफारिश की गई कि कोवावैक्स वैक्सीन को आपातकालीन उपयोग के लिए अनुमोदित किया जाए। यह सिफारिश अनुमोदन के लिए डीसीजीआई को भेजी जाएगी। यह वैक्सीन देश में बच्चों के टीकाकरण में तेजी लाएगी और देश को कोरोना से लड़ने में सक्षम बनाएगी। इस बीच, सीरम इंस्टीट्यूट के सिंह ने कहा कि 12 से 17 साल की उम्र के करीब 2,700 बच्चों के दो अध्ययनों से पता चला है कि कोवोवैक्स वैक्सीन बहुत प्रभावी और सुरक्षित है।

आइए करें पीएम के सपने को साकार : सीरम इंस्टिट्यूट

कोवावैक्स वैक्सीन की मान्यता न केवल हमारे देश के लिए बल्कि पूरी दुनिया के लिए फायदेमंद होगी। हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का भारत में दुनिया के लिए पर्याप्त वैक्सीन बनाने का सपना साकार होगा। सीरम इंस्टीट्यूट के सिंह ने कहा, “हमारे सीईओ अदार पूनावाला के विजन के अनुरूप, हमारा मानना ​​है कि कोवावैक्स वैक्सीन हमारे देश और दुनिया में बच्चों को कोरोना से बचाने में अहम भूमिका निभाएगी।” (केंद्र सरकार की समिति ने बच्चों के टीकाकरण के लिए कोवावैक्स को मंजूरी दी)

अन्य समाचार

सुप्रीम कोर्ट: दुर्भाग्य से! हमने पिछली गलतियों से नहीं सीखा है; सुप्रीम कोर्ट ने यूक्रेन में भारतीय छात्रों को चिंतित किया

वीडियो: वाराणसी में दिखी पीएम मोदी की खास भविष्यवाणी; काशी विश्वनाथ के दर्शन भी हुए ‘डमरू’

👉 Important Link 👈
👉 Join Our Telegram Channel 👈
👉 Sarkari Yojana 👈

Leave a Reply