करेले का जूस है सेहत के लिए फायदेमंद, लेकिन जानिए किन लोगों को इसका सेवन नहीं करना चाहिए

0 223
Join Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now

करेला का नाम सुनते ही बच्चे ही नहीं बड़ों के भी मुंह में छाले पड़ जाते हैं। लेकिन सिर्फ यही करेला आपको कई हानिकारक बीमारियों से बचा सकता है। आयुर्वेद के अनुसार रोजाना करेले का जूस पीना शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होता है। क्योंकि यह मधुमेह और अस्वास्थ्यकर आहार के कारण लीवर पर पड़ने वाले नकारात्मक प्रभावों को भी कम कर सकता है। तो आइए जानें कि करेले का जूस हमारे शरीर के लिए इतना फायदेमंद क्यों है।

क्यों खास है करेले का जूस?

करेले के जूस में पानी मिलाकर पीने से कैलोरी और कार्बोहाइड्रेड की मात्रा बहुत कम होती है। इसके अलावा यह विटामिन ए और विटामिन सी से भरपूर होता है। इसलिए इसका उपयोग औषधीय रूप से भी किया जाता है। करेले में मौजूद ओलियोनिक एसिड ग्लूकोसाइड शुगर को खून में घुलने से रोकता है।

यहां जानिए करेले का जूस पीने के स्वास्थ्य लाभ

1. त्वचा को बनाएं स्वस्थ
इंटरनेशनल जर्नल ऑफ मॉलिक्यूलर साइंस 2017 की रिपोर्ट के मुताबिक करेला विटामिन ए, विटामिन सी जैसे एंटी-ऑक्सीडेंट से भरपूर होता है। जो त्वचा को स्वस्थ रखने में मदद करता है। यह चमकती त्वचा पाने में मदद करता है।

2. वजन घटाने में मददगार

वजन घटाने के लिए भी करेले के जूस का इस्तेमाल किया जाता है। क्योंकि यह फाइबर से भरपूर होता है और इसमें हाइड्रेटिंग गुण होते हैं। साथ ही कैलोरी में कम होने के कारण यह आहार में एक स्वस्थ विकल्प है।

3. ब्लड शुगर को नियंत्रण में रखें

करेले का रस मधुमेह के लिए रामबाण है। आयुर्वेद के अनुसार करेले का जूस पीने से आपका ग्लूकोज लेवल कंट्रोल में रहता है। इसलिए मधुमेह के रोगियों को करेले का जूस पीने की सलाह दी जाती है।

4. भूख को नियंत्रित करें

करेले का रस फाइबर से भरपूर, पोषक तत्वों से भरपूर होता है। किसके द्वारा
आपको ज्यादा देर तक भूख नहीं लगती है। इसके अलावा, आप बहुत कम कैलोरी का सेवन करते हैं।

5. स्वस्थ पाचन

आयुर्वेद के अनुसार करेले में पाए जाने वाले पोषक तत्व आपके पाचन तंत्र को स्वस्थ रखते हैं, साथ ही रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में भी फायदेमंद होते हैं।

ऐसे में करेले के जूस का सेवन नहीं करना चाहिए

करेले के रस के अधिक सेवन से पेट दर्द, दस्त और पेट खराब हो सकता है।मधुमेह के रोगी और कोई भी दवा लेने वाले लोगों को करेले के रस का सेवन डॉक्टर की सलाह पर ही करना चाहिए।आयुर्वेद के अनुसार करेले के रस का अधिक सेवन करने से इसकी गुणवत्ता कम हो जाती है वीर्य इसलिए अगर आप फैमिली प्लानिंग कर रहे हैं तो अपने पार्टनर को करेले के जूस से परहेज करने के लिए कहें।गर्भवती महिलाओं और हृदय रोगियों को करेले के जूस का सेवन करने से पहले डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

Join Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now
Ads
Ads
Leave A Reply

Your email address will not be published.