इस दिन मनाई जाएगी सावन की शिवरात्री, जानें पूजन विधि, शुभ मुहूर्त व उपाय

402

सावन का पावन महिना शुरू हो चुका है इस पवित्र माह में जो भी त्योहार पड़ते हैं उनका अपना एक अलग ही महत्व होता है। जैसा कि आप भी जानते हैं कि इस पवित्र महीने की शुरूआत 17 जुलाई से हो चुकी है। वहीं हिंदू पंचांग के मुताबिक इस बार शिवरात्रि 30 जुलाई दिन मंगलवार को पड़ रही है। सावन की शिवरात्रि के साथ ही त्योहारों की शुरुआत हो जाती है। हालांकि इस सावन माह में चार सोमवार, नागपंचमी व सावन की शिवरात्री भी पड़ने वाली है।

शास्त्रों में बताया गया है कि जो भी व्यक्ति सावन में आने वाले सोमवार का व्रत व शिवरात्री की पूजा सच्चे मन से करता है उसकी सारी मनोकामना पूरी हो जाती है। इसलिए आज हम आपको सावन माह में पड़ने वाली शिवरात्री की पूजा विधि व शुभ मुहूर्त की जानकारी देने जा रहे हैं, तो आइए जानें
कैसे करें पूजा?

वैसे तो हर माह के कृष्णपक्ष चतुर्दशी को शिवरात्री पड़ता है लेकिन सावन और फाल्गुन कृष्ण चतुर्दशी को पड़ने वाली शिवरात्री का महत्व काफी ज्यादा है। इस दिन सच्चे मन से शिव जी की पूजा करने वाले भक्तों पर शिव जी मेहरबान हो जाते हैं इसलिए सबसे पहले सही पूजन विधि की जानकारी होना आवश्यक है।

loading...

यह बात भी सच है कि इस कलयुग में भगवान शिव जी की पूजा करने की विधि बहुत ही आसान मानी गई है, अगर आप अपने सच्चे मन से सावन शिवरात्रि को भगवान शिवजी की पूजा करते हैं तो इससे शिव जी आपसे अति शीघ्र प्रसन्न होंगे। इस दिन कुछ करें या न करें लेकिन बस आप अपनी श्रद्धा भाव के साथ शिवजी को जल अर्पित कर दें क्योंकि भगवान शिव अपने भक्तों की सच्ची भक्ति और एक लोटा जल से ही प्रसन्न हो जाते हैं, इनको खुश करने के लिए किसी कीमती चीज की आवश्यकता नहीं पड़ती है।
शुभ मुहूर्त

शिवरात्री पर शुभ मुहूर्त में पूजन और अभिषेक किया जाएगा तो भोले की अपार कृपा बरसती है। 30 जुलाई को सावन शिवरात्रि पर सुबह 9:10 बजे से लेकर दोपहर 2:00 बजे तक शुभ महूर्त रहेगा। इस बीच पूजन करना शुभ फलदायी होगा।

पूजन विधि व उपाय
अगर आप विधि विधान से पूजा करना चाहते हैं तो इस दिन सुबह जल्दी उठकर सबसे पहले स्नान करें। इसके बाद साफ कपड़े पहनकर मंदिर जाएं। ध्यान रहे मंदिर जाते समय जल, दूध, दही, शहद, घी, चीनी, इत्र, चंदन, केसर, भांग सभी को एक ही बर्तन में साथ ले जाएं और शिवलिंग का अभिषेक करें। इसके अलावा आप चाहे तो भगवान शिव को गेहूं से बनी चीजें अर्पित करें।

कहा जाता है कि ऐश्वर्य पाने के लिए भगवान शिव को मूंग का भोग लगाया जाना चाहिए। अगर आप मनचाहा जीवनसाथी पाना चाहते हैं तो इस दिन भगवान शिव को चने की दाल का भोग लगाएं आपकी इच्छा पूरी होगी।

सभी ख़बरें अपने मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Comments are closed.