अगर किसी के कहने में App डाउनलोड कर रहे हो तो, ठग जायेंगे

377

अगर आप भी किसी के कहने से या फिर व्हाट्सअप्प जैसे किसी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर आने वाले लिंक पर क्लिक करके कोई भी एप्लिकेशन डाउनलोड करने आदत पाले बैठे हैं तो सावधान हो जाएँ. लगातार हो रहे साइबर अपराध पेटीएम (Paytm) या दूसरे ई-वॉलेट के जरिये धोखाधड़ी से बचने के लिए दिल्ली के साइबर सेल ट्वीट कर लोगों से सावधानी बरतने के अपील कर रही है. साइबर सेल के DCP अनैश रॉय के मुताबिक राजधानी दिल्ली में लगातार पेटीएम केवाईसी (PAYTM KYC) के नाम पर धोखाधड़ी के मामले सामने आ रहे है.

दसवीं पास लोगों के लिए इस विभाग में मिल रही है बम्पर रेलवे नौकरियां
दिल्ली के इस बड़े हॉस्पिटल में निकली है जूनियर असिस्टेंट के पदों पर नौकरियां – अभी देखें
ITI, 8th, 10th युवाओं के लिये सुनहरा अवसर नवल शिप रिपेयर भर्तियाँ, जल्दी करें अभी देखें जानकारी 
ग्राहक डाक सेवा नौकरियां 2019: 10 वीं पास 3650 जीडीएस पदों के लिए करें ऑनलाइन

dont accept fraud calls

लगातार मिल रही फ्रॉड की शिकायतों के बाद दिल्ली पुलिस की साइबर सेल ने सोशल मीडिया के जरिए लोगों से अपील की है कि अगर कोई भी आपको पेटीएम केवाईसी (PAYTM KYC) की वेरिफिकेशन के नाम पर कॉल करता है या एसएमएस करता है तो उसपर भरोसा ना करें. इसके अलावा दिल्ली पुलिस ने लोगों से ये भी अपील की है कि किसी अनजान व्यक्ति के कहने पर कोई ऐप डाउनलोड ना करें. यह ऐप आपके ओटीपी और एसएमएस पढ़ सकता है. उन्होने कहा की आजकल ऐसे एप्लिकेशन भी मार्केट में आ चुके हैं जो एक बार आपके मोबाइल में इन्स्टाल होने के बाद आपकी सारी गतिविधि को ट्रेस कर सकते हैं.

loading...

PayTm के नाम फ्रॉड से बचें

पुलिस ने अडवाइजरी जारी की है कि अगर कोई आपको Paytm KYC वेरिफिकेशन के नाम पर कॉल करता है या SMS भेजता है, तो उसपर भरोसा मत करें. इसके अलावा किसी अनजान व्यक्ति के कहने पर कोई ऐप डाउनलोड मत करें. इस तरह के ऐप से आपके मोबाइल पर आने वाले OTP SMS पढे जा सकते है. इसके अलावा कई बार व्हाट्सअप्प जैसे किसी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर बहुत से एप्लिकेशन के लिंक भेजे जाते हैं जिनके साथ कई तरह के इनाम जीतने जैसे लालच देने वाले मैसेज टैग किए हुए होते हैं. इस तरह के लिंक पर क्लिक करके कोई भी एप्लिकेशन डाउनलोड ना करें.

dont accept fraud calls

साइबर सेल ने लोगों के चेताया है कि कोई भी ई-वॉलेट कंपनी कॉल करके केवाईसी वेरिफाई नहीं करती है. इसके लिए ठग आपसे संपर्क करने के लिए दो तरीके अपना रहे हैं. पहले आपको KYC के नाम पर मैसेज भेजते हैं. दूसरा ये ठग खुद ही फोन कर आपको बताते हैं कि आपके नंबर का फिर से KYC किया जा रहा है. इसके लिए अगर आप चाहते हैं तो फोन पर बात करते हुए अपना KYC करा सकते हैं.

dont accept fraud calls

इस तरह के फ्रॉड करने वाले ये ठग आपसे ये दो मोबाइल ऐप ANY DESK य़ा QUICK SUPPORT जैसे एप्लिकेशन डाउनलोड कराते हैं. इन ऐप को डाउनलोड कर जैसे ही ओपन करते हैं तो उस पर 10 डिजिट का एक नंबर डिसप्ले होता है. इस नंबर को ठग पूछ लेते हैं. इस नंबर को जान लेने पर ठग भी आपके फोन स्क्रीन को अपने सिस्टम पर देखने लगते हैं.

दरअसल, इस तरह के रिमोट मोबाइल ऐप के जरिए आप अपने फोन को दूर बैठे किसी दूसरे व्यक्ति को भी देखने और प्रयोग करने का अधिकार दे देते हैं. लेकिन ठग इसके जरिए आपके फोन से 1 या 10 रुपये ही वॉलेट में डलवाते हैं और आपका पिन नंबर देख लेते हैं. इस तरह आपसे बात करते हुए खाते से सारे पैसे किसी दूसरे खाते में ट्रांसफर कर लेते हैं.

इसके अलावा ऑनलाइन पेमेंट करने वालों से ठगी के लिए सिर्फ PAYTM KYC के जरिए ही नहीं बल्कि और भी बहुत से तरीके आजकल अपनाए जा रहे हैं. इसके लिए ठग अपने मोबाइल नंबर को online shopping websites के कस्टमर केयर का बताते हुए गूगल पर डाल देते हैं. इसी तरह OLX पर सामान बेचने या खरीदने के नाम पर भी ठग आपको एक लिंक भेजकर ठगी कर रहे हैं. पुलिस ने कहा है कि ऑनलाइन खरीददारी करने वाली साइट से किसी तरह के लेनदेन संबंधी शिकायतों हेतु मोबाइल या कंपनी कि साइट पर दिये गए हेल्प के ऑप्शन का ही प्रयोग करें. गूगल जैसे किसी सर्च इंजन द्वारा दिखाये गए कंपनी के नंबर (दरअसल वो असली नंबर नहीं होता) पर काल या एसएसएम करने से बचें. अगर आपको PayTm कि KYC करवानी ही हो तो मोबाइल में दिखाये गए किसी अधिकृत केवाईवी पॉइंट कर जाकर ही करवाएँ.

सभी ख़बरें अपने मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.