नौ वाद्यों को बजाता अकेला इंसान

26

यूपी के चंदौली गांव में एक ऐसा संगीतज्ञ है जो एक नहीं बल्कि नौ वाद्ययंत्र एक साथ बजा सकता है। सियाराम ने 14 वर्ष की साधना के बाद यह मुकाम हासिल किया। सियाराम ने बताया कि उनके मन में विचार आया कि क्यों न एक प्रयोग करके वह कई वाद्य यंत्रों को अकेले बजाए। इसलिए उन्होंने नक्कारा, तबला, झांझा, डमडम, थाली, बोतल, टईया, ड्रम एवं नाल को मिलाकर एक संयुक्त वाद्य यंत्र बनाया और इसे बजाने का रियाज करने लगे।

कुछ ही दिनों में मेहनत इस कदर रंग लाई कि सियाराम उस वाद्य यंत्र पर कोई भी धुन आसानी से निकालने लगे। अब ये किसी भी महफिल में ये अकेले ही रंग जमा देते हैं। वैसे तो सियाराम ने यह वाद्ययंत्र बजाने की कोई ट्रेनिंग नहीं ली लेकिन फिर भी इनकी कला को देखकर कोई नहीं कह सकता कि सियाराम बिना सीखे एक साथ नौ वाद्यों को बजा सकते है।

loading...

loading...