यह जानकर आप आगरा जरूर जाओगे

Source
0 59

दिल्ली से लगभग 200 किलोमीटर की दूरी पर स्थित आगरा एक ऐतिहासिक पर्यटन स्थल है। मुगलकाल में आगरा मुगल सम्राजय की राजधानी बन कर प्रसिद्ध हुआ। 1526 में यह मुगल साम्राज्य के संस्थापक बाबर के हाथों में आया था। 1571 में अकबर ने आगरा में एक किले का निर्माण करवाया। जहांगीर और शाहजहां के शासनकाल में आगरा नगर चारदीवारी से घिरा था जिसमें 16 प्रवेशद्वार थे।

ताजमहल

Agra, Tourist Place of india, Tajmahal, India place, History, Akbar, Fatehpur Sikri
Source

आगरा के दर्शनीय स्थलों में यह सब से अधिक लोकप्रिय है। यमुना तट पर सफेद संगमरमर से बनी यह इमारत शाहजहां और उसकी बेगम मुमताज के प्यार की यादगार है जो 1653 में बनकर तैयार हुई थी। इसके निर्माण में लगभग 22 वर्ष का समय लगा था। ताजमहल के प्रवेशद्वार पर कुरान की आयतें उत्कीर्ण हैं और ऊपर की ओर कई छोटेछोटे गुंबद बने हैं। ताजमहल की रूपरेखा ईरान के वास्तुविद उस्ताद ईसा ने बनाई थी।

फतेहपुर सीकरी

Agra, Tourist Place of india, Tajmahal, India place, History, Akbar, Fatehpur Sikri
Source

आगरा से लगभग 40 किलोमीटर की दूरी पर स्थित ऐतिहासिक दृष्टि से महत्वपूर्ण फतेहपुर सीकरी का निर्माण मुगल बादशाह अकबर ने करवाया था। अकबर का यह वह सपना है जिसे उसने अपने शासन के चरम काल में देखा था।

बुलंद दरवाज़ा

Agra, Tourist Place of india, Tajmahal, India place, History, Akbar, Fatehpur Sikri
Source

बादशाह अकबर के शासन की बुलंदियों का प्रतीक यह दरवाज़ा एक दर्शनीय स्थल है, जिस का निर्माण बादशाह ने गुजरात विजय के उपलक्ष में करवाया था। यह 176 फुट ऊँचा दरवाज़ा है।

दीवान-ए-खास

Agra, Tourist Place of india, Tajmahal, India place, History, Akbar, Fatehpur Sikri
Source

यहाँ पर मुगल सम्राट अकबर अकसर अपने नवरत्नों से मंत्रणा किया करता था। यह इमारत बाहर से देखने में एक मंज़िला प्रतीत होती है मगर अंदर से दो मंज़िला है। इस महल के बीच एक नक्काशीदार खंभा है जिसे देखकर सैलानी अचंभित रह जाते हैं।

ख्वाब महल

Agra, Tourist Place of india, Tajmahal, India place, History, Akbar, Fatehpur Sikri
Source

यह कभी सम्राट अकबर का शयनागार था। इस महल में शाम को नृत्य व संगीत की महफिलें लगती थीं। महल में एक खूबसूरत मंच भी है। कहा जाता है कि इसी मंच पर ‘तानसेन’ और ‘बैजू बावरा’ के बीच संगीत कार्यक्रम का ज़ोरदार मुकाबला हुआ करता था।

loading...
loading...

Leave a Reply

error: Content is protected !!