SURPRISE!! इन 5 जगह भारतीय लोगों का जाना मना है

0 39

भारत के स्वतंत्र देश है लेकिन अभी भी कुछ ऐसी जगह है जहाँ भारतीय नहीं जा सकते हैं.  जहाँ कई सालों से यहां कथित तौर पर भारतीयों की एंट्री बैन है और सिर्फ फोर्नर विदेशियों सैलानियों को ही एंट्री मिल पाती है । आज हम आपको बता रहे हैं भारत की 5 ऐसी जगहें, जहां किसी भी भारतीय  का उस जगह प्रवेश बंद है.

फ्री कैजोल कैफे, हिमाचल


हिमाचल प्रदेश के कैजोल गांव में स्थित एक कैफे इंडियंस की एंट्री पर बैन है। ये भारतीयों और विदेशी सैलानियों के लिए काफी मौज-मस्ती वाला इलाका माना जाता है। इस कैफे में लोगों को उनका पासपोर्ट देखकर एंट्री मिलती है। इसके पीछे कैफे मैनेजमेंट का तर्क है कि वे विदेशी टूरिस्टों के प्रति अपना आकर्षण बनाए रखना चाहते हैं।

फॉरेनर्स ओनली बीच, गोवा

खूबसूरत बीचेस के लिए मशहूर गोवा में कई इलाके ऐसे हैं, जहां किसी भारतीय की एंट्री पर बैन है। बताया जाता है कि यहां कुछ बीचेस पर मालिकों ने भारतीयों के जाने पर बैन लगाया है। ऐसा करने के पीछे तर्क दिया जाता है कि विदेशी सैलानियों को खुला माहौल और लोगों की गंदी नजर से बचाने के लिए भारतीयों की एंट्री बैन की गई है।

फॉरनर्स ओनली बीच, पांडिचेरी

गोवा के बाद पोंडिचेरी में भी फॉरनर्स ओनली बीच आसानी से मिल जाएंगे। यहां के भी कुछ बीचेस पर भारतीयों को जाने की इजाजत नहीं है।

उनो-इन होटल, बेंगलुरु


कर्नाटक राज्य में एक ऐसी जगह है, जहां कोई भी भारतीय नहीं जा सकता है। यहां 2012 में खुला उनो-इन होटल सिर्फ जापानी सैलानियों के लिए बनाया गया था। हालांकि नस्लीय भेदभाव के आरोप में ग्रेटर बेंगलुरु सिटी कॉरपोरेशन ने इस होटल को दो साल बाद बंद कर दिया।

नबावी होटल, चेन्नई


एक अंग्रेजी अखबार ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया था कि चेन्नई का एक नबावी होटल किसी भारतीय को रूम नहीं देता है। भारतीयों की एंट्री होटल में बैन है। ये होटल कथित तौर पर नबाव की हवेली में बनाई गई है। बताया जाता है कि यहां रुकने के लिए आपके पास विदेशी पासपोर्ट होना जरूरी है।

loading...
loading...

Leave a Reply

error: Content is protected !!