तो भईया आपको पता है बीयर की बोतलों का यह राज़, जान लो बढिया है!!

0

रोचक जानकारी : बीयर (Beer) एक नशीली ड्रिंक है जिसे पीने के बाद एक व्यक्ति भरपूर नशा और वफादार प्रशंसक का आनंद लेता है। जो लोग बीयर से प्यार करते हैं, वे इसके बिना अपने जीवन की कल्पना नहीं कर सकते हैं और इसे नियमित रूप से पिने के लिए बहाना ढूंढते रहते हैं।

एक बियर प्रेमी के रूप में आपने भी अपने अपार्टमेंट के तल पर उन हरे और भूरे रंग की बियर की बोतलों को खूब घुमाया होगा या उन बोतलों का प्रयोग Truth and Dare खेलने के लिए भी किया होगा । लेकिन क्या आपने कभी सोचा है? तो आज हम sabkuchgyan का द्वारा यह बताएँगे कि  इन बोतलों का रंग हरा और भूरा ही क्यों होता है।

पहले बेचते थे बिलकुल सिंपल बोतल में बियर

so-you-know-that-this-secret-of-beer-bottles-by-swearing-you-will-not-know

क्या आपके दिमाग में कभी यह सवाल नहीं आया, कि क्यों साधारण बोतलों में बीयर नहीं बेचीं या रखी जाती है। आइये हम आपको बताते है। ऐसा क्यों नहीं किया जाता है। बीयर अपने शुरुआती दिनों में केवल साधारण बोतलों में ही बेचीं या रखी जाती थी। लेकिन बियर बनाने वालों ने जल्द ही पाया कि बियर में मौजूद एसिड सूरज की रोशनी के संपर्क में आने से उनके अंदर बदलाव आ जा रहा है और वह सूरज में मौजूद यूवी किरणों से प्रभावित हो रही हैं। जिसकी वजह से बियर में से बदबू आना शुरू हो जा रही है और इसका स्वाद भी अजीब हो जा रहा है।

इस समस्या को हल करने के लिए, उन्होंने भूरे रंग की बोतल का प्रयोग शुरू किया। भूरा रंग यूवी किरणों को बीयर में एसिड के साथ प्रतिक्रिया नहीं करने देता है और इसलिए यह ख़राब नहीं होती है।

सेकंड विश्व युद्ध के बाद आया बदलाव

so-you-know-that-this-secret-of-beer-bottles-by-swearing-you-will-not-know

द्वितीय विश्व युद्ध की शुरुआत में हरी बोतलें उपयोग में आईं और भूरे रंग की बोतलों का प्रयोग काफी कम होने लगा। जिससे बियर बनाने वालों को कुछ अन्य रंगों का चयन करना कस विकल्प मिला। जिसने उन्हें बीयर की बिक्री और गुणवत्ता को बनाए रखने में मदद की, यह तब मुमकिन हो पाया जब ग्रीन रंग की बोतलों ने भूरे रंग की बोतलों का प्रयोग कम कर दिया।

यह जानकारी आपको कैसी लगी। इस आर्टिकल को ज़्यादा से ज़्यादा शेयर करें। ताकि बाकी लोगो तक भी यह जानकारी पहुंच जाएं।

Also Read :- Paytm Cash पाने के लिए क्लिक करें

सभी ख़बरें अपने मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

loading...
loading...

Leave a Reply

error: Content is protected !!